हिंदी न्यूज़ – अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के लायक नहीं हैं डोनाल्ड ट्रंप: पूर्व FBI चीफ-Trump Morally Unfit to be President, Dont Buy Dementia Theory, says Fired FBI Chief James Comey

0
6


सीरिया में मिसाइल अटैक के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वहां से यूएस आर्मी को वापस बुलाने का फैसला लिया है. इस बीच फेडरल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टिगेशन (FBI) के डायरेक्टर पद से बर्खास्त किए गए जेम्स कोमी ने ट्रंप को ‘राष्ट्रपति’ पद के लिए अयोग्य करार दिया है. जेम्स कोमी का कहना है, “डोनाल्ड ट्रंप बहुत खतरनाक हैं. वह अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए नैतिक रूप से फिट नहीं हैं. उन्होंने अपने फैसलों से अमेरिका की इमेज को बहुत नुकसान पहुंचाया है.”

जेम्स कोमी ने ये बातें अमेरिका के मशहूर न्यूज चैनल ‘ABC News’ को दिए गए इंटरव्यू में कही. उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि ट्रंप स्वास्थ्य कारणों से राष्ट्रपति पद के लिए अयोग्य हैं, बल्कि मुझे लगता है कि वह नैतिक रूप से इस पद के लिए अयोग्य हैं.”

उन्होंने कहा, “हमारे राष्ट्रपति को उन मूल्यों के प्रति सम्मान दिखाना चाहिए, जो हमारे इस देश के मूल में हैं. इनमें सबसे महत्वपूर्ण सच है. राष्ट्रपति ऐसा करने में सक्षम नहीं हैं.”

बता दें कि एफबीआई के पूर्व चीफ जेम्स कोमी ने अपनी नई किताब ‘ए हायर लॉयल्टी : ट्रूथ, लाई एंड लीडरशिप’ में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. कोमी को ट्रंप ने मई 2017 में उनके पद से बर्खास्त कर दिया था. बर्खास्त किए जाने के 11 महीने बाद कोमी ने एक किताब लिखी है जिसके कुछ पन्ने लीक हो गए हैं. यह पहली बार है जब किसी ने पद पर आसीन राष्ट्रपति की इतनी गंभीर आलोचना की है.

अपनी किताब में कोमी ने लिखा है कि ट्रंप एक झूठे, निहायती बेइमान इंसान हैं. ट्रंप में कोई मानवीय गुण नहीं हैं और वह केवल अपने घमंड की सुनते हैं. कोमी ने यह भी लिखा कि ट्रंप को अपने काम की कोई जानकारी नहीं है.

कोमी ने लिखा है कि डोनाल्ड ट्रंप उन्हें एक माफिया बॉस की याद दिलाते हैं जो अपने मातहतों से पूरी वफादारी की उम्मीद करता है लेकिन वह खुद कानून का पालन नहीं करता. इस किताब का विमोचन मंगलवार को किया जाएगा.

बता दें कि डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन और 2016 के राष्ट्रपति चुनावों को अपने पक्ष में करने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका की जांच एजेंसी एफबीआई के निदेशक जेम्स कोमी को उनके पद से हटा था.

दरअसल, पिछले साल नवंबर में राष्ट्रपति चुनाव से पहले डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के विदेश मंत्री रहते हुए निजी सर्वर से ईमेल भेजने के मामले में नए ईमेल्स मिलने की जानकारी देकर जेम्स कोमी ने दोबारा जांच शुरू की थी. इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार के लिए हिलेरी क्लिंटन जेम्स कोमी को जिम्मेदार ठहरा चुकी हैं.

ये भी पढ़ें: कश्मीर पर PAK के सुर हुए नरम, आर्मी चीफ बोले- बातचीत से हल हो मसला

ब्रिटेन में भारतीय छात्रों ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कठुआ-उनाव मामलों में मांगा न्याय



Source link

उत्तर छोड़ें