सुप्रीम कोर्ट ने लड़की के परिजनों को सुरक्षा देने का निर्देश दिया

0
6



सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर सरकार को कठुआ बलात्कार और हत्या मामले में पीड़ित लड़की के परिजनों और उनके वकीलों को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश दिया है. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार शीर्ष अदालत ने इस मामले की सुनवाई जम्मू-कश्मीर के बजाए चंडीगढ़ में कराने की मांग पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है. इसके अलावा अदालत ने इस मामले में गिरफ्तार नाबालिग की भी सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश दिया है. अब इस मामले की अगली सुनवाई 25 अप्रैल को होगी. सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका पीड़ित लड़की के पिता ने लगाई थी, जिसमें अपने परिवार और वकीलों को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की थी. इसके अलावा मामले की सुनवाई जम्मू-कश्मीर से बाहर कराने का भी अनुरोध किया था.

उधर, सोमवार को कठुआ में इस मामले में पहले दिन सुनवाई के दौरान खुद को बेकसूर बताते हुए सभी आठों आरोपितों ने अदालत से नार्को टेस्ट कराने की मांग की. हालांकि, जिला और सत्र न्यायाधीश संजय गुप्ता ने क्राइम ब्रांच को सभी आरोपितों को चार्जशीट की कॉपी सौंपने का निर्देश दिया और मामले की सुनवाई 28 अप्रैल तक के लिए टाल दी.

आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या की इस घटना ने पूरे देश को हिला दिया है. क्राइम ब्रांच की चार्जशीट के मुताबिक 10 जनवरी को लापता हुई अल्पसंख्यक घुमंतू जाति की बच्ची को एक मंदिर में बंधक बनाकर बलात्कार किया गया था और फिर उसकी हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने इस मामले में अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें तीन पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. इस बीच पीड़ित लड़की के पिता ने जम्मू-कश्मीर पुलिस की जांच पर संतोष जताया है और मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने का विरोध किया है.



Source link

उत्तर छोड़ें